मेरठ हिंसा बड़ा खुलासा CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन के पीछे SDPI और PFI नाम के दो संगठनों का हाथ।

CAA और NRC के खिलाफ हुए प्रदर्शन को हिंसक बनाने वाले (SDPI) नामक एक संगठन के दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

caa मेरठ में 20 दिसंबर को CAA और NRC के खिलाफ हुए प्रदर्शन को हिंसक बनाने वाले (SDPI) नामक एक संगठन के दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि 20 दिसंबर को हुए प्रदर्शन के दौरान SDPI और PFI के लोग मुस्लिम युवकों को हिंसा के लिए उकसा रहे थे। साथ ही भड़काऊ पोस्टर और पर्चे भी बांट रहे थे।
नौचंदी थाने के प्रभारी आशुतोष कुमार ने बताया कि उन्हें मुखबिर से सूचना मिली थी कि मेरठ के शास्त्री नगर, सेक्टर 13 में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) का दफ्तर है। जहां पिछले कई दिनों से 20 तारीख को होने वाले प्रदर्शन के लिए भड़काऊ पोस्टर और पर्चे बांटे तयार किए जा रहे हें । इसी सूचना के आधार पर पुलिस ने एसडीपीआई के ऑफिस पर छापा मारा।
पुलिस ने मौके से एसडीपीआई के एक सदस्य सिकंदर गेट निवासी नूर हसन और हमीरपुर निवासी मुईद को गिरफ्तार किया है। उनके ऑफिस से भड़काऊ सामग्री और पर्चे बरामद किए गए हैं। पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे (PFI) के साथ में मिलकर काम करते हैं।
ये जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने PFI के सेक्टर 12 स्थित कार्यालय पर छापा मारा लेकिन वहां कुछ पोस्टर के अलावा कुछ नहीं मिला। पुलिस का कहना है कि वहां पिछले कुछ महीनों से SDPI का ऑफिस चल रहा था।
इस संगठन की आड़ में लोगों को भड़काऊ पोस्टर और पर्चे बांटे जा रहे थे। पुलिस का कहना है कि इनके खिलाफ धारा 153/क यानी धार्मिक आधार पर किसी की भावनाओं को भड़काने का मामला दर्ज किया है। गिरफ्तार किए गए दोनों लोगों को फिलहाल कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

Great Online Store

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *