आर्मी थल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत बने CDS (चीफ ऑफ डिफेन्स स्टाफ) यानी तीनों सेनाओं के चीफ।

आर्मी थल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत बने CDS (चीफ ऑफ डिफेन्स स्टाफ) यानी तीनों सेनाओं के चीफ।
अब संभालेंगे तीनों सेनाओ की कमान।

आर्मी थल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत बने CDS (चीफ ऑफ डिफेन्स स्टाफ) यानी तीनों सेनाओं के चीफ।
अब संभालेंगे तीनों सेनाओ की कमान। केंद्र सरकार ने रविवार को ही CDS पोस्ट के लिए आयु की सीमा बढ़ा दी थी।
बिपिन रावत 31 दिसंबर को सेनाध्यक्ष पद से सेवानिवृत्त हो रहे रावत के स्थान पर मनोज मुकुंद नरवणे नए थल सेना प्रमुख होंगे।
मंत्रालय ने 28 दिसंबर को जारी की गई अपनी अधिसूचना में कहा है कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) या ट्राई-सर्विसेज चीफ 65 साल की उम्र तक सेवा दे सकेंगे।
कारगिल युद्ध के दौरान वायुसेना और भारतीय सेना के बीच में तालमेल ठीक से बैठा दिखाई नहीं दिया। वायुसेना के इस्तेमाल पर तत्कालीन वायुसेनाध्यक्ष और सेनाध्यक्ष जनरल वीपी मलिक की राय जुदा थी। भारतीय रणनीतिकारों ने भी इस कमी को महसूस किया और सरकार से दुबारा सीडीएस के गठन की सिफारिश की। यह पद सरकारी नेतृत्व के लिए सैन्य सलाहकार की भूमिका के तौर पर जरूरी है।
इस पद पर 3 साल तक बने रहेंगे रावत । 3 साल बाद जब वे 65 साल के हो जाएंगे तो उनका इस पद पर समय पूरा हो जाएगा हालांकि केंद्र चाहे तो इसमे आगे भी विस्तार कर सकता है ।
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की जिम्मेदारी तीनों सेनाओं से जुड़े मामलों पर रक्षामंत्री को सलाह देना होगी । सीडीएस ही रक्षामंत्री का प्रमुख सैन्य सलाहकार होगा। हालांकि सैन्य सेवाओं से जुड़े विशेष मामलों में तीनों सेनाओं के चीफ पहले की तरह रक्षामंत्री को सलाह देते रहेंगे।
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ सैन्य अभियान के दौरान तीनों सेनाओं के बीच तालमेल बैठाने का काम भी करेगा। और CDS को को तीनों सेनाओं के प्रमुखों के बराबर सैलरी दी जाएगी।

Great Online Store

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *