देश के गौरव भारत के लौह पुरूष वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊँची प्रतिमा (Statue of Unity)

वल्लभ भाई जो की सरदार पटेल के नाम से लोकप्रिय थे। भारत के पहले उप-प्रधानमंत्री थे । जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता और भारतीय गणराज्य के संस्थापक पिता थे जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए देश के संघर्ष में अग्रणी भूमिका निभाई और स्वतंत्र राष्ट्र में अपने एकीकरण का मार्गदर्शन किया।

Statue Of Unity : प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती पर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी शिलान्यास कर राष्ट्र को समर्पित किया था । यह विश्व की सबसे ऊंची गगनचुंबी प्रतिमा है।
182 मीटर ऊँची यह प्रतिमा इतनी विशाल है कि इसको 5 किलोमीट से अधिक दूरी से भी साफ देखा जा सकता है । प्रतिमा के अंदर 2 लिफ्ट लगाई गई हें जो की 150 मीटर ऊपर तक जाती हें ।

यह प्रतिमा सरदार सरोवर बांध से लगभग 3 किमी की दूरी पर स्थित साधू बेट नामक स्थान पर है। प्रतिमा को बनाने में लागत लगभग 3 हजार करोड़ रु आई थी । प्रतिमा की मजबूती का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है की यह 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आने वाले तूफान में भी स्थिरता से खड़ी रहेगी । और 6.2 के तीव्रता के भूकंप को भी सहने की क्षमता रखती है । इस मूर्ति को बनाने में लाखों टन लोहा सीमेंट तांबा कंक्रीट और भी कई विशेष प्रकार के धातुओं का उपयोग किया गया है । प्रतिमा के आसपास टूरिस्टों के घूमने फिरने के लिए और भी बहुत कुछ बनाया गया है। जिसकी सुंदरता देखते ही बनती है । आपको एक बार यहाँ अवश्य ही घूमने जाना चाहिए । यहाँ आप जीतने भी समय रहेंगे इन खूबसूरत पलों को कभी भुला नहीं पाएंगे ।

जब प्रतिमा की और देखते हें तो ऐसा प्रतीत होता है कि ये अभी बोल पड़ेगी । रात में नजारा और भी खूबसूरत हो जाता है जब लाखों लाइट वहां के पूरे माहौल को बहुत ही सुंदर और अनोखा बना देती हें जो आपके मन को मोह लेंगी । आप जब भी गुजरात जायें तो एक बार Statue Of Unity को जरूर देखें। वहां घूमने के लिए आपके पास समय सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक रहता है।

1 thought on “देश के गौरव भारत के लौह पुरूष वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊँची प्रतिमा (Statue of Unity)”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *